आयुष्मान खुराना (इंस्टाग्राम @ आयुष्मान खुराना)

फिल्मफेयर में इस बार अभिनेता इरफान खान को उनकी आखिरी फिल्म ‘मीडियम मीडियम’ के लिए लाइफटाइम अचीवमेंट और सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इरफान के बेटे बाबिल को यह पुरस्कार दिया गया।

नयी दिल्ली। अभिनेता आयुष्मान खुराना अपने अभिनय के अलावा, लेखन के लिए भी प्रशंसकों के बीच काफी प्रसिद्धि है। फिल्मफेयर अवार्ड के अवसर पर, अभिनेता स्वर्गीय इरफान खान के बेटे बाबील से मिले। फिल्मफेयर में इस बार अभिनेता इरफान खान को उनकी आखिरी फिल्म ‘मीडियम मीडियम’ के लिए लाइफटाइम अचीवमेंट और सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इरफान के बेटे बाबिल को यह पुरस्कार दिया गया।

आयुष्मान खुराना ने इस मौके पर दिवंगत अभिनेता इरफान खान के लिए एक प्यारी कविता लिखी। आयुष्मान खुराना भी इस खास मौके पर भावुक नजर आए। आयुष्मान खुराना ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर इरफान खान की एक विशेष तस्वीर साझा की है। इस फोटो को शेयर करते हुए आयुष्मान ने लिखा, ‘वह बांद्रा में कहीं है लेकिन वह कहीं शांति से है, अपनी दोहरी जीत का जश्न मना रहा है। सर्वश्रेष्ठ अभिनेता (पुरुष) और लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड! मुझे बाबील को फिल्मफेयर पुरस्कार देने का अवसर मिला। मैं इस खूबसूरत लड़के से पहली बार मिला था। मैं देख सकता हूं कि वह भविष्य में बहुत अच्छा करेगा।

आयुष्मान खुराना, आयुष्मान खुर्राना, इरफान खान, बाबील, फिल्मफेयर अवार्ड्स

अभिनेता इरफान खान को लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड दिया गया। (इंस्टाग्राम @AyushmannKhurrana)

आयुष्मान ने आगे लिखा- ‘हम कलाकार एक विशेष प्रजाति हैं। हमारे पास कमजोरियां, कल्पनाएं और सिद्धांत हैं। हम टिप्पणियों और अनुभवों पर निर्भर करते हैं। हम स्क्रीन पर और मंच पर कई बार जीते और मरते हैं, लेकिन उन प्रदर्शनों की शक्ति हमें अमर बना देती है। ‘ इरफान खान के लिए, कविता की लाइन आयुष्मान ने कुछ इस तरह लिखी है – ‘अभिनेताओं का कभी अतीत नहीं होता, कभी कोई वर्तमान नहीं’। जब भी कोई कलाकार जाता है, तो उसका इस तरह से सम्मान नहीं किया जाता है, क्योंकि हर कोई इरफान नहीं है।

साल 2020 में इस दुनिया से रुख करने वाले अभिनेता इरफान खान आज भी फैंस के दिलों पर राज करते हैं। इरफान खान 53 साल के थे और लंबे समय से कैंसर के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे थे। इरफान खान की तबीयत अचानक खराब हो गई थी, जिसके कारण उन्हें मुंबई के कोकिलाबेन अस्पताल में भर्ती कराया गया था। कई घंटों तक लड़ने के बाद, बुधवार 29 अप्रैल को उनकी मौत की खबर आई। वह लंबे समय से अपने स्वास्थ्य को लेकर चिंतित थे लेकिन वह एक लड़ाकू थे। कैंसर से लड़ाई जीतने की इच्छा व्यक्त करते हुए उन्होंने एक साक्षात्कार में कहा कि वह अपनी पत्नी के लिए जीवित रहना चाहते हैं।

वहीं, 2012 की फिल्म ‘विक्की डोनर’ से बॉलीवुड में अपनी पहचान बनाने वाले आयुष्मान ने पिछले कुछ सालों में कई हिट फिल्में दी हैं। फिलहाल उनके पास कई फिल्में हैं, जिनमें ‘कई’, ‘चंडीगढ़ करे आशिकी’ और ‘डॉक्टर जी’ शामिल हैं। आयुष्मान आखिरी बार अमिताभ बच्चन के साथ शूजीत सरकार की फिल्म ‘गुलाबो सीताबो’ में नजर आए थे।




LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here