मुंबई। हिंदी सिनेमा के शो मैन राज कपूर ने अपने अभिनय से सजी नायाब फिल्में इंडस्ट्री को दीं, वहीं भारतीय सिनेमा ने एक नई दिशा दिखाई। राज कपूर में हीरोइन को सिल्वर स्क्रीन पर पतले कपड़ों में बोल्ड सीन करने की ताकत तो थी ही साथ ही दर्शकों के सामने फिल्म को परोसते हुए समाज में फैली हर तरह की बुराइयों पर वार करते थे. वैसे तो उनके पास ऐसी फिल्मों की लंबी फेहरिस्त है, लेकिन आज हम बात कर रहे हैं फिल्म ‘प्रेम रोग’ की, जो 39 साल पहले 1982 में रिलीज हुई थी। फिल्म में ऋषि कपूर और पद्मिनी कोल्हापुरे मुख्य भूमिका में थे। शूटिंग के दौरान ऋषि के लव रिक्वेस्ट होते ही पद्मिनी ने एक-दो नहीं बल्कि कई थप्पड़ मारे थे।

पद्मिनी कोल्हापुरे ने निभाया विधवा महिला का किरदार

दरअसल, फिल्म ‘प्रेम रोग’ में एक युवक को एक विधवा महिला से प्यार करते दिखाया गया है। फिल्म की शूटिंग चल रही थी। पद्मिनी एक विधवा महिला के रूप में थीं जबकि ऋषि एक ऐसे युवक की भूमिका निभा रहे थे जो उससे प्यार करता था। सीन के मुताबिक जैसे ही ऋषि ने अपने प्यार का इजहार किया, पद्मिनी को गुस्से में एक थप्पड़ मारना पड़ा. उस समय पद्मिनी इंडस्ट्री में न्यूकमर थीं, ऋषि को सामने देखते ही वो घबरा जाती थीं। ऐसे में ऋषि को थप्पड़ मारने वाले सीन को कई बार दोहराना पड़ा।

(फोटो क्रेडिट: मूवीज एन मेमोरीज/इंस्टाग्राम)

8 थप्पड़ मारने के बाद राज कपूर ने बताया सीन ओके

ओके नहीं होता सीन देखकर फिल्म का निर्देशन कर रहे राज कपूर ने कहा कि अगर आपने बहुत जोर से थप्पड़ मारा, धीरे से नहीं, तो उन्होंने वही किया, लेकिन राज कपूर साहब को वह शॉट नहीं मिला जो वे चाहते थे। अब राज कपूर साहब ही हैं जो अपनी फिल्म के हर सीन पर पैनी नजर रखते हैं. उन्होंने लगभग 8 बार शॉट दोहराया। जब तक शॉट परफेक्ट होता तब तक ऋषि के गोरे गाल लाल हो चुके थे। सीन पूरा होने पर नाराज ऋषि ने बदला लेने की धमकी दी। इस थप्पड़ कांड को लेकर एक रियलिटी शो में पहुंची पद्मिनी ने पुराने दिनों को याद करते हुए बताया था.

प्रेम रोग

प्रेम रोग के किरदारों में ऋषि कपूर और पद्मिनी कोल्हापुरे – फोटो क्रेडिट @
@बॉलीवुड डायरेक्ट/ट्विटर

यह भी पढ़ें- ताल के 22 साल: गोविंदा थे ताल के लिए सुभाष घई की पहली पसंद अनिल कपूर नहीं, राजी होते तो ऐश्वर्या राय के साथ आते नजर आते

‘प्रेम रोग’ बने राज कपूर को मिली आलोचना और तारीफ दोनों

फिल्म ‘प्रेम रोग’ की कहानी एक साधारण परिवार के एक युवक की है जिसे एक जमींदार परिवार की विधवा लड़की से प्यार हो जाता है। अपने प्यार के कारण उन्हें परिवार और समाज के विरोध का सामना करना पड़ता है। इस फिल्म में ऋषि कपूर और पद्मिनी कोल्हापुरे के अलावा शम्मी कपूर, तनुजा और नंदा जैसी दिग्गज अभिनेत्रियां भी अहम भूमिका में थीं. इस फिल्म के निर्माता-निर्देशक राज कपूर थे। कहा जाता है कि इस फिल्म के लिए राज कपूर की आलोचना और प्रशंसा की गई थी। हालांकि उस वक्त उन्होंने रिस्क लिया था।

हिंदी समाचार ऑनलाइन पढ़ें और लाइव टीवी न्यूज़18 को हिंदी वेबसाइट पर देखें। जानिए देश-विदेश और अपने राज्य, बॉलीवुड, खेल जगत, कारोबार से जुड़ी खबरें।

.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here