राहुल रॉय का इंस्टा पोस्ट वायरल

राहुल रॉय ने कोविद की अपनी कहानी एक इंस्टा पोस्ट के माध्यम से साझा की है, जिसमें उन्होंने बताया है कि कोविद के लिए उनके आरटीपीआर टेस्ट की रिपोर्ट सकारात्मक आई, जबकि दूसरे एंटीजन टेस्ट की रिपोर्ट नकारात्मक थी।

नई दिल्ली। इन दिनों महाराष्ट्र कोरोनावायरस से बुरी तरह प्रभावित है और इस तरह से बॉलीवुड अभिनेता राहुल रॉय ‘एस पोस्ट ने सभी को परेशान किया है। दरअसल, राहुल रॉय ने कोविद की अपनी कहानी एक इंस्टा पोस्ट के माध्यम से साझा की है, जिसमें उन्होंने बताया है कि कोविद के लिए उनके आरटीपीआर टेस्ट की रिपोर्ट सकारात्मक आई, जबकि दूसरे एंटीजन टेस्ट की रिपोर्ट नकारात्मक आई। अब राहुल रॉय मैं इससे बहुत परेशान हूं और अपनी पोस्ट में एक महत्वपूर्ण सवाल उठाया है।

राहुल ने अपनी पोस्ट में लिखा, ‘मेरी रिहायशी मंजिल को 27 मार्च को सील कर दिया गया था, क्योंकि एक पड़ोसी को कोरोना पॉजिटिव पाया गया था, इसलिए एहतियात के तौर पर हम सभी 14 दिनों के लिए फ्लैट्स के भीतर सील किए गए थे। । मुझे और मेरे परिवार को 11 अप्रैल को दिल्ली जाना था, इसलिए हमने 7 अप्रैल को मेट्रोपोलिस लैब से आरटीपीआर टेस्ट करवाया। 10 अप्रैल को, जब कोरोना परीक्षण रिपोर्ट आई, तो मेरा पूरा परिवार कोरोना सकारात्मक पाया गया।

उन्होंने आगे कहा, ‘हम दोनों में से किसी में भी कोरोना के कोई लक्षण नहीं थे, और हमें पता चला कि बीएमसी के अधिकारी उसी दिन सभी फ्लैटों में एंटीजन टेस्ट करवा रहे थे, इसलिए हमने दोबारा एंटीजन टेस्ट करवाया और हम सभी को इसकी रिपोर्ट दी। नेगेटिव आया, और बाद में हमने आरटीपीआरसी टेस्ट दोबारा करवाया, जिसकी रिपोर्ट मुझे अभी तक नहीं दी गई है। बीएमसी अधिकारियों ने मुझे और मेरे परिवार को अलग कर दिया। डॉक्टर ने कहा कि मेरे परिवार का व्यवसाय क्या है? हमारा ऑफिस कहाँ है? … समझ में नहीं आता क्या कनेक्शन था?

इंस्टाग्राम @officialrahulroy

उन्होंने आगे लिखा कि उनके पास कोई लक्षण नहीं थे लेकिन फिर भी डॉक्टरों ने अस्पताल में भर्ती होने का सुझाव दिया। जब उसने इनकार कर दिया, तो उसे घर पर खुद को अलग करने के लिए कहा गया। अभिनेता का कहना है कि उन्हें रोजाना अपने ऑक्सीजन के स्तर की जांच करने के लिए कहा गया था, कुछ दवाइयां लेने के लिए भी कहा गया था, लेकिन मैं उन दवाओं को मस्तिष्क आघात के बाद वैसे भी ले रहा था। साथ ही, राहुल रॉय अपनी पोस्ट में एक महत्वपूर्ण सवाल भी उठा रहे हैं। उनका कहना है कि जब वह और उनका परिवार घर से बाहर नहीं निकला था, तो ऐसी स्थिति में वह कोरोना कैसे बन गया। राहुल यह भी कहते हैं कि उन्हें इस सवाल का जवाब कभी नहीं मिलेगा, लेकिन उन्होंने अपने प्रियजनों से उम्मीद जरूर जताई है कि वह जल्द ही कोरोना की नकारात्मक रिपोर्ट के साथ लौटेंगे।




LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here