हैप्पी बर्थडे करिश्मा कपूर: करिश्मा कपूर ने बॉलीवुड में अपनी शानदार एक्टिंग से एक खास पहचान बनाई, वह परिवार के साथ आती हैं

बॉलीवुड में अपनी बोल्ड एक्टिंग के लिए जानी जाने वाली करिश्मा कपूर 25 जून 2019 को अपना 46 वां जन्मदिन मना रही हैं। करिश्मा ने अपने बोल्ड अभिनय से दर्शकों के बीच एक खास पहचान बनाई थी, जिस तरह से उन्हें फिल्मों में पारंपरिक रूप से पेश किया गया था। इतना ही नहीं, वह व्यस्त होने के साथ अपने परिवार और दोस्तों के करीब रही हैं। वह करिश्मा, लंच से लेकर बर्थडे पार्टीज, तीज त्योहारों और हर खुशी के मौके पर कपूर परिवार के साथ रहने और उनके साथ समय बिताने का हर मौका देने में माहिर हैं। वह अपने परिवार के साथ हर समय दिखाई दीं। करिश्मा ने खुद अपने सोशल अकाउंट के जरिए इस बात की गवाही दी है।

आपकी जानकारी के लिए हम आपको बता दें कि कोरोनावायरस महामारी के कारण लॉकडाउन करिश्मा के लिए विशेष रूप से कठिन था, क्योंकि वह अपने परिवार से नहीं मिल सकती थी। इस बात का खुलासा खुद करिश्मा ने हिंदुस्तान टाइम्स से बातचीत में किया। करिश्मा को अक्सर उनके पिता रणधीर कपूर और मां बबीता के साथ देखा जाता था। करिश्मा अपने बच्चे के साथ कियान और समैरा, बहन करीना कपूर खान, बहनोई सैफ अली खान, भतीजे तैमूर अली खान और चचेरे भाई रणबीर कपूर के साथ समय बिताती नजर आती हैं।

आज करिश्मा के जन्मदिन के खास मौके पर आइए एक नजर डालते हैं उनके करियर और परिवार के साथ बिताए उन सभी पलों पर, जो खुद करिश्मा ने अपने इंस्टाग्राम पर शेयर किए हैं।

25 जून 1974 को मुंबई में जन्मी करिश्मा को अभिनय की कला विरासत में मिली। उनके पिता रणधीर कपूर एक अभिनेता थे जबकि माँ बबिता एक जानी मानी फिल्म अभिनेत्री थीं। करिश्मा कपूर ने 1991 में रिलीज़ हुई फिल्म प्रेम कैदी से बतौर अभिनेत्री अपने सिनेमा करियर की शुरुआत की। युवा प्रेम कथा पर सुपरहिट साबित हुई।

परिवार ❤️

केके (@therealkarismakapoor) द्वारा साझा की गई एक पोस्ट 1 मई, 2020 को 4:23 बजे पीडीटी

इसके बाद करिश्मा ने ‘पुलिस अधिकारी’, ‘जिगर अनाड़ी’, ‘अंदाज़ अपना अपना’, ‘दुलारा’ जैसी सुपरहिट फिल्मों में काम किया। 1996 में ‘राजा हिंदुस्तानी’ के साथ करिश्मा का भाग्य चमक गया। इस फिल्म की सफलता ने करिश्मा को स्टार के रूप में स्थापित कर दिया।

1997 की ‘दिल तो पागल है’ करिश्मा के करियर की एक और महत्वपूर्ण फिल्म साबित हुई। नब्बे के दशक में, करिश्मा एक ग्लैमरस छवि से बाहर ‘जुबैदा’ में जुबैदा की शीर्षक भूमिका में दिखाई दीं। फिल्म में उनके दमदार प्रदर्शन के लिए उन्हें फिल्मफेयर क्रिटिक्स अवार्ड से भी नवाजा गया।

2000 के दशक में, करिश्मा ने दर्शकों की पसंद को ध्यान में रखते हुए छोटे पर्दे पर काम करके दर्शकों का मनोरंजन किया। 2003 में उद्योगपति संजय कपूर से शादी करने के बाद, करिश्मा ने फिल्म उद्योग छोड़ दिया।

बाद में, फिल्म निर्माता सुनील दर्शन के आग्रह पर, करिश्मा कपूर ने फिल्म ‘मेरे जीवन साथी’ के माध्यम से एक बार फिर फिल्म उद्योग में वापसी की। करिश्मा कपूर ने फिल्म में अपने विरोधी चरित्र के साथ दर्शकों को रोमांचित किया।

करिश्मा कपूर को अपने करियर में तीन बार फिल्मफेयर पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। 1996 में ‘राजा हिंदुस्तानी’ के लिए सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का फिल्मफेयर पुरस्कार भी दिया गया, 1997 में ‘दिल तो पागल है’ के लिए सर्वश्रेष्ठ सहायक अभिनेत्री, 2000 में ‘फिजा’।

करिश्मा कपूर ने 2012 में रिलीज़ हुई ‘डेंजरस इश्क’ से एक बार फिर इंडस्ट्री में वापसी की लेकिन फिल्म सफल नहीं रही। करिश्मा कपूर ने अपने दो दशक लंबे करियर में लगभग 60 फिल्मों में अभिनय किया है। करिश्मा कपूर इन दिनों फिल्म इंडस्ट्री में सक्रिय नहीं हैं। करिश्मा-संजय तलाक लेकर अलग हो गए हैं।

!function(f,b,e,v,n,t,s){if(f.fbq)return;n=f.fbq=function(){n.callMethod?n.callMethod.apply(n,arguments):n.queue.push(arguments)};if(!f._fbq)f._fbq=n;n.push=n;n.loaded=!0;n.version=’2.0′;n.queue=[];t=b.createElement(e);t.async=!0;t.src=v;s=b.getElementsByTagName(e)[0];s.parentNode.insertBefore(t,s)}(window,document,’script’,’https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js’);fbq(‘init’, ‘2442192816092061’);fbq(‘track’, ‘PageView’); ।