नई दिल्ली। मस्त-मस्त गर्ल के नाम से मशहूर रवीना टंडन ने अपने अभिनय करियर की शुरुआत साल 1991 में फिल्म ‘पत्थर के फूल’ से की थी। इस फिल्म में उनके हीरो सलमान खान थे। रवीना ने अपनी पहली ही फिल्म से दर्शकों का दिल जीत लिया था। इसके बाद उन्होंने ‘मोहरा’, ‘दिलवाले’, ‘अंदाज अपना-अपना’ और ‘दुल्हे राजा’ जैसी कई फिल्मों में अभिनय का लोहा मनवाया। उन्होंने अपने समय के सभी बड़े अभिनेताओं के साथ काम किया है।

26 अक्टूबर 1974 को मुंबई में जन्मीं रवीना एक फिल्मी परिवार से ताल्लुक रखती हैं। उनके पिता रवि टंडन अपने समय के प्रसिद्ध निर्देशक और निर्माता थे। उन्होंने ‘नजराना’, ‘एक मैं और एक तू’, ‘खेल’, ‘खुद्दर’ और ‘वक्त की दीवार’ जैसी फिल्में बनाईं। साथ ही आपको जानकर हैरानी होगी कि रवीना टंडन मशहूर कैरेक्टर आर्टिस्ट मैक मोहन की भतीजी हैं। वही मैक मोहन, जिन्होंने फिल्म शोले में सांबा का किरदार निभाया था। तो ऐसे में फिल्म का रवीना पर असर होना ही था। रवीना ने 17 साल की उम्र में इंडस्ट्री में डेब्यू किया था।

साल 1995 में उनका फिल्मी करियर थोड़ा लड़खड़ा गया, लेकिन वह फिर से खतरों के खिलाड़ी के साथ बॉक्स ऑफिस पर हिट हीरोइन साबित हुईं। 1998 में रिलीज हुई फिल्म ‘बड़े मियां- छोटे मियां’ ने खूब कमाई की। यह फिल्म उस साल की दूसरी सबसे ज्यादा कमाई करने वाली फिल्म थी। हाल ही में फिल्म ने अपनी रिलीज के 23 साल पूरे किए हैं। रवीना ने अपने इंस्टाग्राम पर इस फिल्म से जुड़ा एक पोस्ट भी किया था।

साल 1999 में उन्होंने फिल्म ‘शूल’ की। इस फिल्म में लोगों ने रवीना को पहली बार किसी ग्लैमरस किरदार में देखा था। फिल्म में उनके काम की सभी ने सराहना की। इसके बाद साल 2001 में उन्होंने कल्पना लाजमी की फिल्म ‘दमन’ की। इस फिल्म से उन्होंने साबित कर दिया कि वह एक बेहतरीन एक्ट्रेस हैं। इस फिल्म के लिए उन्हें सर्वश्रेष्ठ अभिनेत्री का राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार मिला था। वर्ष 2003 में फिल्म ‘सट्टा’ और वर्ष 2004 में फिल्म ‘दोबारा’ में उनके काम को समीक्षकों ने खूब सराहा।

रवीना कुछ समय के लिए फिल्मों से भी दूर रहीं। इस दौरान उन्होंने अपने परिवार को समय दिया। जब उन्होंने फिल्मों में वापसी की तो उन्होंने फिर साबित कर दिया कि अभिनय की उनकी भूख अभी खत्म नहीं हुई है। साल 2017 में उन्होंने फिल्म ‘मातृ’ में दमदार किरदार निभाया था।

रवीना टंडन अपनी शर्तों पर जिंदगी जीती हैं। जब वह केवल 21 वर्ष की थीं, तब उन्होंने सिंगल मदर बनने का फैसला किया। उन्होंने पूजा और छाया नाम की दो लड़कियों को गोद लिया था। उस समय दोनों की उम्र क्रमश: 11 और 8 साल थी। छाया की हाल ही में शादी हुई है। साल 2004 में रवीना ने अनिल थडानी से शादी की। अनिल से उनकी एक बेटी राशा और बेटा रणबीरवर्धन हैं। रवीना अपने बच्चों को पूरा समय देती हैं।

अधिक हिंदी समाचार ऑनलाइन पढ़ें लाइव टीवी न्यूज़18 हिंदी वेबसाइट पर। जानिए देश-विदेश और अपने राज्य, बॉलीवुड, खेल जगत, कारोबार से जुड़े हिन्दी में समाचार।

.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here